You are here
Home > Politics > National > बिहार का सियासी संकटः सबकी निगाहें नीतीश की बैठक पर

बिहार का सियासी संकटः सबकी निगाहें नीतीश की बैठक पर

nitish kumar jdu special meeting about allince of congress lalu prasad yadav

बिहार में सियासी संकट के बीच अब सबसे बड़ा सवाल बन गया है कि नीतीश कुमार की महागठबंधन वाली सरकार से डेप्युटी सीएम तेजस्वी यादव खुद इस्तीफा देंगे या नीतीश कुमार उन्हें बर्खास्त करेंगे। खबरों के मुताबिक अगर सरकार पर संकट आया तो नीतीश कुमार खुद भी पद छोड़ सकते हैं। शनिवार को भी पर्दे के पीछे तमाम सियासी कोशिशों के बावजूद इस मसले पर कोई हल नहीं हो सका है। खबरों के मुताबिक लालू प्रसाद यादव और नीतीश कुमार के बीच बातचीत तक बंद हो गई है।

इस बीच रविवार को जेडीयू ने एक बार फिर अपने विधायकों की मीटिंग बुलाई है। हालांकि जेडीयू के अनुसार यह मीटिंग पूर्व निर्धारित थी और राष्ट्रपति चुनाव के मद्देनजर इसे बुलाई गई है। लेकिन सूत्रों के अनुसार इस मीटिंग में नीतीश कुमार कोई सख्त कदम उठाने से पहले अपने विधायकों से बात कर सकते हैं। नीतीश कुमार ने अपने दल के वरिष्ठ नेताओं सहित कांग्रेस लीडरशिप को साफ कह दिया है कि तेजस्वी को जाना ही होगा।

कांग्रेस अभी भी परदे के पीछे दोनों दलों के बीच सब कुछ ठीक करने की अंतिम कोशिश कर रही है। कांग्रेस के एक सीनियर नेता के अनुसार लालू प्रसाद और नीतीश कुमार के बीच आमने-सामने बात कराने की कोशिश की जा रही है। उनका दावा है कि अगर दोनों नेता एक साथ 5 मिनट भी बैठ गए तो मुद्दे का हल निकल जाएगा। दरअसल दोनों नेताओं के बीच आपस में बातचीत पिछले कुछ दिनों से बंद है। लालू-नीतीश के बीच इस तनातनी से सबसे विकट स्थिति कांग्रेस के लिए है जो तय नहीं कर पा रही है कि वह किस तरह किसके साइड से बात करे। (इनपुटः एजेंसी भी)

Leave a Reply

Top